नई दिल्ली. जब इंसान सफलता पाने के बाद हस्ती बन जाता है तब सब उन्हें कहीं न कहीं आदर्श मानने लगते हैं. लेकिन कोई भी यह हीं सोचता कि कामयाबी के पीछे न जाने कितनी कोशिशें दबी होती हैं. इसी दबी हुई कोशिश को नाम दिया जाता है संघर्ष.
 
इंडिया न्यूज का इसी मुद्दे पर खास शो ‘संघर्ष’ में मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत ने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के बारे में बताया है. जनक्रांति के नायक अन्ना हजारे आज आम आदमी के लिए एक आदर्श हैं. अन्ना ने आम आदमी के अंदर भरोसा भरा है कि लोकतंत्र की असल शक्ति आम आदमी के ही हाथ में है. 
 
जानकारी के अनुसार कभी अन्ना हजारे अपने जीवन के ऐसे पढ़ाव से गुजर रहे थे कि उन्होंने आत्महत्या करने का फैसला कर लिया था. लेकिन अन्ना ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर स्वामी विवेकानंद की किताब को पढ़ा और वह इस किताब से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने जनता की सेवा करना ही अपना लक्ष्य बना लिया.
 
अन्ना हजारे जैसी शख्सियत के बारे में बहुत सी ऐसी बातें हैं जो सामने नहीं आईं है. इंडिया न्यूज के खास शो ‘संघर्ष’ में जानिए अन्ना के जीवन जुड़ी अहम बातें.
 
वीडियो क्लिक करके देखिए पूरा शो