नई दिल्ली. राजनीतिक शख्सियत अक्सर खुलकर पंगे लेने के लिए जाने जाते हैं. चाहे बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हो, केंद्रीय मंत्री वीके सिंह की हो या दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की, सभी ने साल 2015 में कई कारणों से सुर्खियां बटोरीं.
 
अगर वी के सिंह की बात की जाए तो फरीदाबाद में दलित बच्चों को जिंदा जलाए जाने की घटना पर विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने एक विवादित बयान दिया. वीके सिंह ने कहा है कि अगर कोई कुत्ते को पत्थर मार दे तो इसके लिए सरकार जिम्मेदार नहीं है.
 
किस मामले पर फंसे थे वीके सिंह ?
फरीदाबाद के बल्लभगढ़ इलाके में अक्टूबर के महीने में एक पूरे परिवार को जला के मारने की कोशिश की गई थी. जिसमें दो मासूम बच्चों की मौत हो गई. इसके बाद इसे मुद्दे को लेकर राजनीति गरमा गई. 
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए किन राजनीतिज्ञों ने बटोरीं सुर्खियां: