संसद में सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस ने ईद के मौके पर एक पार्टी का आयोजन किया। इस पार्टी के जरिये कांग्रेस ने विपक्षी ताकत को ना केवल एकजुट किया बल्कि सरकार के खिलाफ विपक्षी तेवरों को भी धार दी।