सना. यमन की राजधानी सना में आज एक मस्जिद में नमाज के दौरान हुए विस्फोट में 30 लोगों की मौत हो गयी. आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट की यमन स्थित शाखा ने ईद-अल-अज्हा की छुट्टी के दौरान हुए इस आत्मघाती बम हमले की जिम्मेदारी ली है. यमन सुरक्षा अधिकारियों के अनुसार कल तड़के अल-बोलायली मस्जिद में विस्फोट हुआ जिससे कई घायल भी हुए. 
 
बता दें कि यह मस्जिद ऐसे इलाके में है जहां के कई निवासी शिया विद्रोही.. हथीस, का समर्थन करते हैं. सना पर पिछले सितंबर से शिया विद्रोहियों का कब्जा है. आईएस से संबंधित संगठन ने ट्विटर पर जारी एक बयान में इस हमले की जिम्मेदारी ली. बयान के अनुसार आईएस ने शिया विद्रोहियों को निशाना बनाया क्योंकि शियाओं को सुन्नी विधर्मी मानते हैं. सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि आत्मघाती बम हमलावर ने अपने जूते में विस्फोटक उपकरण लगाया था. उसने पहले एक विस्फोट किया और जब नमाजी गेट की तरफ भागने लगे तब उसने भीड़ के बीच विस्फोट कर खुद को उड़ा लिया.