नई दिल्ली : क्या हो अगर एक मुख्यमंत्री खुद पुलिसवाले की तरह किसी सूबे से जुर्म को खत्म करने का इरादा कर ले. जी हां, यूपी में कुछ ऐसा ही होने जा रहा है. हाल की जुर्म की वारदातों के बाद प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने तय किया है कि वो खुद अब सिंघम की तरह उत्तर प्रदेश से जुर्म का सफाया कर डालेंगे. इसके लिए योगी ने बाकायदा अपने दफ्तर में एक स्पेशल सेल का गठन किया है. यानी अब गुनहगारों के बुरे दिन शुरू होने वाले हैं.
 
यूपी में जो अब तक नहीं हुआ योगी ने वही करने की ठान ली है. प्रदेश में बढ़ते जुर्म और मुजरिमों ने आखिरकार योगी के सब्र का बांध तोड़ दिया है इसलिए अब योगी ने सिंघम की तरह प्रदेश से जुर्म को खत्म करने का फैसला लिया है. यानी अब योगी पीछे-पीछे होंगे और कानून को हाथ में लेने वाले आगे-आगे, क्योंकि सीएम खुद अब प्रदेश में होने वाले गुनाहों पर सीधी निगाह रखेंगे और हर मुजरिम को योगी के कहर का सामना करना होगा.  
 
सूबे में बढते क्राइम ग्राफ पर घिरती सरकार को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में बयान दिया तो अपराधियों के लिए नफरत और गुस्सा साफ दिखा. योगी आदित्यनाथ ने ऐलान कर दिया कि सूबे में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है. अपराधी कोई भी हो कानून उससे बेरहमी से पेश आएगा. सीएम योगी को ये सख्त रुख अख्तियार करना पड़ा, क्योंकि सूबे में कानून व्यवस्था को लेकर सवाल जो उठने लगे थे.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)