नई दिल्ली. अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के फैसले के बाद विवादित क्षेत्र में अपने दावे पर जोर देने के प्रयास के क्रम में चीन ने सैन्य अभ्यास के लिए दक्षिण चीन सागर (एससीएस) के एक हिस्से को बंद करने का ऐलान किया.

सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की वायुसेना ने एससीएस में बमवर्षक विमानों के साथ लड़ाकू विमानों की गश्त लगाई है.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

दक्षिण चीन सागर में चीन ने मिलिट्री बेस कैंप बनाया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन ने दक्षिण चीन सागर के 90 फीसदी क्षेत्र पर कब्जा किया है. कब्जा कायम रखने के लिए ही चीन ने अपनी फौज उतारी है साथ ही अपने लड़ाकू विमान समुद्री बेस पर तैनात कर दिये हैं.

बता दें कि साउथ चाइना सी का 35 लाख स्क्वॉयर किमी इलाका विवादित है. इंडिया न्यूज के शो सलाखें में देखिए ‘खजाने की खातिर चीन छेड़ेगा वर्ल्ड वॉर-3’. वीडियो पर क्लिक कर देखिए पूरा शो