नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी एक ऐसी पार्टी, जिसके वजूद का मकसद था राजनीति की सफाई. खुद सत्ता में आने से पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यह कहा करते थे कि वो राजनीति में सफाई के लिए उतरे हैं उनका लक्ष्य था राजनीति से दागियों और अपराधियों को बाहर का रास्ता दिखाना.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
लेकिन सत्ता काफी कुछ सिखा देती है. तभी तो आप के नेताओं पर कब्जा, मारपीट, फर्जीवाड़ा, दंगे के बाद अब महिला के यौन शोषण का आरोप भी लग गया है. खुद आप की महिला कार्यकर्ता ने शोषण से तंग आकर खुदकुशी कर ली. सोनी नाम की आम आदमी पार्टी की कार्यकर्ता ने मंगलवार को जहर खाकर खुदकुशी कर ली.
 
मौत से पहले सोनी ने कहा था, ‘मैं आप पार्टी की कार्यकर्ता हूं जो यहां का एमएलए है शरद चौहान उनका एक आदमी मुझे कहता है कि अगर राजनीति में आगे बढ़ना है तो आप मेरे साथ संबंध बना लो. ऐसे बहुत आगे जा सकते हो. तो मैंने कहा अगर राजनीति ऐसी है तो मुझे नहीं करनी. उसके बाद वो मेरे पीछे पड़ गया.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि केजरीवाल के कुल 22 विधायकों पर 48 आपराधिक मामले दर्ज हैं. इंडिया न्यूज़ के खास कार्यक्रम सलाखें में देखिए केजरी को केस पसंद है !