नई दिल्ली. कभी आप गलती से पाकिस्तान के खैबर पख्तूख्वाह इलाके में चले जाएं तो डरिएगा मत, क्योंकि यह आतंकियों ने का नहीं है लेकिन आतंकी जिन हथियारों से अपने मंसूबे को अंजाम तक पहुंचाते है वे सभी यहीं बनते हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस गांव का नाम रूस और अमेरिका तक लिया जाता है. दुनिया के तमाम आतंकी संगठन भी इस गांव का नाम जानते हैं क्योंकि ये गांव दुनिया के बाकी गांवों से एकदम अलग है.
 
दरअसल दर्रा अदम खेल गांव के घर-घर में अवैध तरीके से दुनिया के खतरनाक हथियारों को तैयार किया जाता है. आप जो भी हथियार खोजेंगे वे सभी आपको आसानी से यहां मिल जाएंगे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इस गन वाले गांव की कमाई का जरिया भी यह है. इस गांव के 75 प्रतिशत लोग हथियार बनाने का ही काम करते हैं. यहां के लोगों की दावा है कि दुनिया की ऐसा कोई हथियार नहीं है जिसका डुप्लिकेट यहां नहीं बनाया जा सके. इंडिया न्यृज़ के खास कार्यक्रम सलाखें में देखिए पाकिस्तान में बगदादी का गांव !