नई दिल्ली. दावा है कि बगदादी मारा जा चुका है, लेकिन इराक-सीरिया में आतंक के खिलाफ जंग अब भी जारी है. वहां हर पल जिंदगी लाश बनकर गिर रही है. मौत कब किसे और किस मोड़ पर दबोच ले कोई नहीं जानता और बस इसी वजह से दोनों मुल्क जिंदा आतंकिस्तान बन गए हैं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इराक-सीरिया में जंग के हालात बेहद खराब हो गए हैं. जमीन पर फौज और आईएसआईएस के बीच जारी जंग आम लोगों के लिए आफत बन गई है, तो आसमान से बरसने वाली आग हर दिन सैंकड़ों लोगों की जान ले रही है. इन मुल्कों में कब कहां बम फट जाए कोई नहीं जानता. इसी आग में अबतक आईएसआईएस के हजारों आतंकी जलकर खाक हो चुके हैं.
 
बगदादी पर हर तरफ से आफत बरसी है. बगदादी के आतंकियों को थोक के भाव में मारा गया और इसी का नतीजा है कि आतंकिस्तान का वजूद मिटने के कगार पर आ गया है. अमेरिकी और रूसी हवाई हमलों ने आतंकियों की कमर कुछ इस कदर तोड़ी है कि अब ISIS एक छोटे से हिस्से में सिमट कर रह गया है.
 
इंडिया न्यूज़ के खास शो सलाखें में देखिए बगदादी का आतंकिस्तान.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter