नई दिल्ली. सनकी तानाशाह किम जोंग आए दिन अमेरिका को एटमी हमले की धमकी देता है. साउथ कोरिया के खिलाफ जंग छेड़ने का कभी भी ऐलान करता है, लेकिन अब यह तानाशाह चोरी के धंधे में उतर गया है. किम जोंग ने चोरों की ऐसी फौज खड़ी कर ली है, जो दिन रात चोरी करने में लगी हुई है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हज़ारों किलोमीटर दूर बैठकर अमेरिका के एफ-15 फाइटर जेट की तकनीक चुराने की पीछे तानाशाह किम जोंग की बड़ी साजिश है, जिसके तहत किम जोंग ताकत हासिल करना चाहता है, क्योंकि जिस फाइटर जेट की तकनीक किम के चोरों ने चुराई है. उन फाइटर जेट्स को अमेरिका दस साल से इस्तेमाल कर रहा है. साउथ कोरिया की एयरफोर्स में ऐसे करीब 60 एयरक्राफ्ट हैं.
 
अमेरिकी फाइटर जेट का कायल हुआ किम जोंग जेट के डिजाइन और तकनीक की चोरी कराकर बेहद खुश है. अमेरिका इसे बीते दस साल से एयरफोर्स में इस्तेमाल कर रहा है. फाइटर जेट नहीं मिले तो किम जोंग ने उसके डिजाइन की चोरी करा लिया.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
क्यों खास है अमेरिकी F-15 ?
अमेरिकी F- 15 ईगल की रफ्तार 3000 किमी/घंटा है. 3 लॉंग रेंज और 8 मीडियम रेंज मिसाइलों से लैस है. हवा से हवा और जमीन पर निशाना लगाने में सक्षम है. दुश्मन की किसी भी रडार को चकमा देने में भी सक्षम है. आधुनिक रडार, नेविगेशन सिस्टम, अधिक ऊंचाई पर बातचीत की सुविधाओं से लैस है. बिना रफ्तार कम किए ये किसी भी दिशा में घूम सकता है. हवा में ही दुश्मन और दोस्त की सटीक पहचान कर सकता है. अंधेरे में निशाना लगाने की अद्भुत क्षमता है.