नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के मथुरा में 280 एकड़ की सरकारी जमीन पर खुद को सत्याग्रही बताने वाले स्वाधीन भारत सुभाष सेना (SBSS) के कार्यकर्ताओं ने कब्जा कर रखा था. इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर जमीन खाली कराने गई पुलिस पर कार्यकर्ताओं ने हमला किया और फायरिंग शुरू कर दी. जिसमें एसपी सीटी मुकुल द्विवेदी और एसओ संतोष यादव समेत 24 लोगों की मौत हो गई थी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस पूरे षडयंत्र के पीछे था देश का सबसे बड़ा सनकी खलनायक रामवृक्ष यादव. वह यूपी के गाजीपुर का रहने वाला था. 15 मार्च 2014 में वो करीब 200 लोगों को लेकर मथुरा आया था. उसने यहां पर 2 दिन रहने के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी थी, लेकिन दो दिन बाद वो वहां से हटा नही.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
पहले तो रामवृक्ष यहां एक झोपड़ी बनाकर रहने लगा फिर धीरे-धीरे वहां कई झोपडि़यां बन गईं. देखते ही देखते रामवृक्ष ने 270 एकड़ में अपनी सत्ता चलाने लगा. रामवृक्ष इनता ताकतवर हो गया कि प्रशासन भी इसका कुछ नहीं कर सकी.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो