नई दिल्ली. इराक-सीरिया तबाह करने के बाद बगदादी की काली नज़र हिन्दुस्तान पर थी. हिन्दुस्तान में बड़े आतंकी हमले करने की आईएसआईएस ने साजिश रची थी. लेकिन भारतीय खुफिया एजेंसियों ने इंडिया में बगदादी के पैर जमाने से पहले ही उखाड़ फेंके. जांच एजेंसियों ने उस तिलिस्म को तोड़ दिया जिसके जरिये बगदादी हिन्दुस्तान में अपने चाहने वालों की भर्ती कर रहा था. 
 
दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी बगदादी ने ऐसी ही तबाही हिन्दुस्तान में फैलाने का ख्वाब देखा था. हिन्दुस्तान में ही कुछ नौजवानों को अपने जाल में फंसाकर आतंक की नई इबारत लिखना चाहता था. लेकिन बगदादी के सारे प्लान चौपट हो गए. जिन नौजवानों को बरगलाकर बगदादी हिन्दुस्तान में आतंकी हमले की साजिश रच रहा था. वो धरे गये, जब आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार हुए तो नया खुलासा हुआ. खुलासा ये कि बगदादी किस तरह से नौजवानों को हुस्न के जाल में फांसकर उन्हें आतंकी बना रहा था.
 
दिल्ली से करीब 3 हज़ार किमी दूर बैठे बगदादी ने हुस्न को हथियार बनाकर भारतीय नौजवानों को अपने जाल में फंसा लिया था. और इसके लिए आईएसआईएस सोशल साइट्स का सहारा ले रहा था. आईएसआईएस ने नए आतंकियों की भर्ती का ऐसा सिस्टम बना रखा था जिसे तोड़ पाना आसान नहीं था. लेकिन भारतीय खुफिया एजेंसियों ने इस नेटवर्क को ध्वस्त कर दिया.
 
इंडिया न्यूज़ के खास शो ‘सलाखें’ में देखिए कैसे फेल हो गया बगदादी का ‘मिशन इंडिया’.