लखनऊ. यूपी के मुरादाबाद जिले में एक ऐसी घटना सामने आई है जो किसी हिंदी फिल्म की स्टोरी से कम नज़र नहीं आती है. इस कहानी में एक 12 साल के बच्चे ने अपने पिता का क़त्ल होते देखा और उसका बदला लेने के लिए पूरे 12 इंतज़ार भी किया. जब वक़्त आया तो पिता के कातिल को छोटे-छोटे 12 टुकड़ों में काट डाला. 
 
12 टुकड़ों में काटकर लिया 12 सालों का इंतकाम
24 साल के आलम ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए माना कि उसने अपने पिता के कथित तौर पर हत्यारे की हत्या करके उसके शरीर को 12 टुकड़ों में काटा. उसने पत्रकारों को बताया कि पिता की हत्या का बदला लेने के लिए उसने 12 साल गुजारे, इसलिए उसने हर साल के लिए एक-एक टुकड़ा काटा. 2003 में आलम खान 12 साल का था, जब उसने अपने एक पारिवारिक मित्र को पिता की हत्या करते देखा था. तब से वह बदला लेने का प्लान बना रहा था और उसे यह मौका पिछले हफ्ते मिला जब उसने पिता के हत्यारे को घर में शराब पीने के लिए आमंत्रित किया. 
 
टुकड़ों में काटकर लाश को नदी में बहा दिया
गिरफ्तारी के बाद आलम ने पत्रकारों को बताया कि जब मोहम्मद रईस शराब के नशे में था तो उसने चाकू घोंपकर उसकी हत्या कर दी. उसके शरीर को काटने के लिए हथौड़ी और आरी का इस्तेमाल किया फिर उसने और उसके साथी ने रईस के शरीर के अंगों को प्लास्टिक के थैलों में डालकर नदी में डाल दिया. पुलिस ने रईस के शरीर पर एक सर्जरी निशान से उसकी पहचान की. एक चश्मदीद ने पुलिस को जानकारी दी कि रईस आखिरी बार आलम खान के घर में देखा गया था, इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया और उसने अपना जुर्म कबूल किया. टाइम्स ऑफ इंडिया को आलम खान ने बताया कि हमने तेज आवाज में म्यूजिक चला दिया और उसके बाद शरीर को 12 टुकड़ों में काटा. हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार हथौड़ी और आरी को पुलिस ने घर से बरामद कर ली है.