नई दिल्ली. भारत दुनिया का सबसे युवा देश है. यहां करीब 35.6 करोड़ आबादी युवाओं की है. यही नौजवान आबादी देश की ताकत है और चुनौती भी है युवाओं का जोश तो भारत के पास है लेकिन सवाल ये भी है कि क्या भारत की युवा पीढ़ी के सपनों को साकार करने के लिए नीतियां और नीयत सरकारों के पास है. 
 
सफरनामा की इस कड़ी में हम भारत की युवा आबादी की सोच और युवा नीतियों की ज़मीनी सच्चाई जानने के लिए मध्यप्रदेश के सफर पर निकले क्योंकि मध्यप्रदेश ही वह राज्य है, जिसका दावा है कि युवाओं के लिए रोज़गार के सबसे ज्यादा अवसर अगर कहीं हैं, तो यहीं हैं. मध्यप्रदेश में आने वाले समय में सबसे ज्यादा इनवेस्ट देश विदेश की कंपनियां करने जा रही हैं. 
 
मध्य प्रदेश सरकार के पास युवाओं के लिए रोज़गार और ट्रेनिंग की नीति है. जब लाखों करोड का इनवेस्टमेंट मध्य प्रदेश में आएगा तो स्किल्ड मैन पॉवर की जरूरत पड़ेगी. इस बात को मध्यप्रदेश सरकार समझ चुकी हैं, इसलिए योजनाए का खाका भी कुछ इस तरह खींचा गया हैं कि युवा पारंपरिक सोच से हटकर नए क्षेत्रों में हाथ आजमाए. युवा शक्ति की ताकत दिखाने के लिए शिवराज सिंह चौहान सरकार खेल के क्षेत्र में भी एक ब्लूप्रिंट पर काम कर रही है.