भोपाल. डिजिटल इंडिया और ई-गवर्नेंस की चर्चा इन दिनों पूरी दुनिया में हो रही है. लेकिन, जिस देश की दो तिहाई आबादी दूर-दराज के गांवों में रहती है, क्या वहां डिजिटल इंडिया सफल हो सकता है? सफरनामा में इस बार ई-गवर्नेंस और डिजिटल इंडिया के सपने का सच जानने के लिए इंडिया न्यूज़ मध्यप्रदेश पहुंचा.
 
भारत का दिल कहा जाने वाला ये राज्य इन दिनों अपनी नई पहचान बना रहा है. यहां शिवराज सरकार का सपना है कि जल्द से जल्द मध्यप्रदेश को कंप्यूटर और इंटरनेट पर वन क्लिक स्टेट में तब्दील कर दिया जाए. आईटी की दुनिया मध्यप्रदेश में आकार ले रही हैं. मतलब आप मध्यप्रदेश के किसी भी कोने में हों. आपका कोई भी काम हो, बस कंप्यूटर पर माउस की एक क्लिक और आपकी जरूरत की हर जानकारी, जरूरी सर्टिफिकेट, सारा सरकारी रिकॉर्ड आपके सामने हाजिर हो जाए.
 
मध्यप्रदेश सरकार की लोक सेवा गांरटी अधिनियम योजना के तहत 22 सरकारी विभागों की 177 सेवाए गांव गांव तक पहुंच चुकी हैं. वर्ल्ड बैंक भी अब इस योजना को आगे बढाने में मदद दे रहा हैं. इस योजना से आम आदमी की परेशानी कम हुई हैं. इस योजना के फायदे को देखते हुए दूसरे राज्यो की सरकारों ने भी इस तरह की योजना अपने राज्यों मे शुरू की हैं.