नई दिल्ली. टीम इंडिया में ओपनर के तौर पर टेस्ट और वनडे की पहली पारी में शतक बनाने वाले राहुल पहले क्रिकेटर हैं जिसने अपने डेब्यू मैच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है. बता दें कि ज़िम्बाब्वे जैसी कमजोर टीम ही क्यों न हो, लक्ष्य भले ही 169 रन का हो, लेकिन परिस्थितियां विपरित थी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
भारतीय टीम के इस मुश्किल हालात में राहुल ने बल्लेबाज अंबाती रायडू के ऊपर से दबाव हटाया.लोकेश राहुल और अंबाती रायडू के बीच 228 गेंदों पर 162* रन की नाबाद साझेदारी हुई.
 
बता दें कि लोकेश ने अपनी पारी से नई नवेली टीम लेकर गए धोनी की कई मुश्किलों का हल निकाल दिया है. टेस्ट कप्तान विराट पहले से ही इस तकनीकी रूप से सक्षम बल्लेबाज़ के मुरीद है और अब धोनी का साथ इनको काफी आगे ले जाएगा इसकी काफी उम्मीद जताई जा रही है. ऐसे में सवाल यह उठ रहे है कि क्या लोकेश राहुल एम एस धोनी के उत्तराधिकारी बन सकते हैं. धोनी की जगह तो भविष्य में भरना आसान नहीं लेकिन राहुल भी विकेटकीपिंग कर सकते हैं और जिस तरह से राहुल मैदान में ऑलराउंडर है उसे देखकर दावा मजबूत करती है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter