नई दिल्ली : हिन्दू धर्म में शुभ समय और मुहूर्त का बड़ा महत्व है. किसी भी नए या शुभ काम को शुरू करने से पहले मुहूर्त की जानकारी होनी चाहिए, क्योंकि काम की सफलता मेहनत के साथ-साथ मुहूर्त पर भी निर्भर करती है. आज हम आपको 2017 में गर्भाधान के शुभ मुहूर्त की जानकारी देंगे.
 
मानव जीवन में जितना महत्व शादी-विवाह को दिया जाता है उतना ही गर्भाधान को भी दिया जाता है. गर्भाधारण के लिए शुभ मुहूर्त का ध्यान रखना बेहद जरूरी है, ताकि स्त्री के गर्भ में प्रवेश करने वाली आत्मा पवित्र, सकारात्मक हो.
 
 
साल 2017 में गर्भधारण के शुभ मुहूर्त
जनवरी- 1, 12, 28 और 31
फरवरी- 1 से लेकर 10 फरवरी तक शुभ हैं और उसके बाद 27 और 28 दिन अच्छे हैं.
मार्च- 1-11 और 27 से 30 अप्रैल तक
मई- 1-10 मई और 26-31 
जून- 1-9 तक शुभ है और 24 से 30 जून उत्तम हैं.
जुलाई- 1-8 जुलाई और 24 से 31 तक
अगस्त- 1-7 और 22 से 30
सितंबर- 1 से 6 और 20 के बाद, क्योंकि 7-20 तक पितृ पक्ष है. जो कि गर्भाधान के लिए शुभ नहीं है.
अक्टूबर- 1-5 और फिर 20-31
नवंबर- 1-4 और 19 से 30
दिसंबर- 1, 3 और 19 और 31
 
गर्भावस्था के लक्षण
गर्भावस्था का पता लगाना कई बार मुश्किल हो जाता है. गर्भ ठहरने का पहला लक्षण माहवारी का बंद होना होता है. साथ ही जी मचलाना, उल्टी होना, आदि लक्षण भी दिखाई देते हैं. गर्भधारण करने के बाद बच्चेदानी का बाहरी भाग मुलायम हो जाता है, हालांकि सबसे बेहतर होगा कि जब आपके गर्भ ठहरने का शक हो तो डॉक्टर से मिल लें.