नई दिल्ली.   रोशनी का त्योहार का दीपावली को आने में कुछ दिन बचे हैं. बाजारों में रौनक नवरात्र और दशहरे से ही शुरू हो जाती है. लोगों ने खरीददारी के लिए प्लान बना लिया है. माना जाता है कि दीपावली और धनतेरस में खरीददारी करना शुभ होता है.
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
आपको बता दें कि इस बार की दीपावली में अद्भुत संयोग है. इस बार दीपावली से पहले रवि पुष्य अमृत सिद्धि योग 23 अक्टूबर को पड़ रहा है. इस घड़ी को खरीददारी के लिए शुभ माना जाता है.
विद्वानों के मुताबिक स्थाई संपत्ति जैसे घर, प्लाट और गाड़ी जैसी चीजों मे निवेश करने से शुभ होता है. उनका कहना है कि इस नक्षत्र में धनतेरस और दीपावली में की गई खरीददारी से ज्यादा शुभदायी होता है.
खास बात यह है कि इस साल धनतेरस और दीपावली से लगभग एक हफ्ते पहले ही खरीददारी का संयोग बन रहा है. यह पुष्य संयोग 22 अक्टूबर से रविवार की रात 8.41 तक रहेगा यानी खरीदारी का महासंयोग करीब 15 घंटे का रहेगा.  शास्त्रों के मुताबिक पुष्य नक्षत्र की धातु सोना होता है. गोल्ड की खरीददारी पर यह शुभ माना जाता है. 
23 अक्टूबर 2016 को कैसे बनेगा संयोग
सुबह- 9 से 10.30 लाभ का संयोग
10.30 से 12 बजे अमृत
दोपहर 1.30 से 3 बजे शुभ संयोग
शाम 6 से शाम 7.30 बजे तक शुभ संयोग
शाम 7.30 बजे से 9 बजे तक अमृत