नई दिल्लीः पूर्व सपा नेता अमर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहने वाले कांग्रेस के दिग्‍गज नेता मणिशंकर अय्यर पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि इस देश में कई मणिशंकर से पीड़ित रहे हैं. इसमें से उमा भारती, स्वर्गीय जयललिता और दूसरे बड़े नेता भी है. उन्होंने कहा कि वह खुद भी इन नेताओं की सूची में शामिल हैं. अमर सिंह ने एक पार्टी का किस्सा सुनाते हुए मणिशंकर अय्यर पर तंज कसा है. उन्होंने कहा कि गुजराल साहब (सतीश गुजराल, पूर्व प्रधानमंत्री आई के गुजराल के भाई) के निवास पर एक भोज था. मद्यपान करके, नशे में चूर मदमस्‍त आधे घंटे इतनी क्रूर बातें वो कर रहे थे कि हमारी और उनकी एक ऐतिहासिक झड़प हुई. और उस झड़प ने पूरे रास्‍ते मैं इतनी प्रसिद्धी पाई कि जब मणि शंकर अय्यर संसद के प्रांगण में किसी को बेइज्‍जत करने खड़े होते थे, तो भारतीय जनता पार्टी के सदस्‍य कहते थे ‘मणि बैठ जा नहीं तो अमर सिंह आ जाएगा’.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहने पर सफाई देते हुए कहा था कि पीएम रोज हमारे नेताओं के खिलाफ अपशब्द कहते रहते हैं. मैं एक स्वतंत्र कांग्रेसी हूं, मेरे पास कोई पद नहीं है. इसलिए मैं मोदी को उन्हीं की भाषा में जवाब दे सकता हूं. उन्होंने कहा कि ‘नीच’ शब्द से मेरा मतलब ‘LOW’ था. मेरे कहने का मतलब नीची जाति में पैदा होने वाले से नहीं था. नीच शब्द का अगर यह अर्थ भी हो सकता है तो मैं माफी मांगता हूं.

बता दें कि राजनीति में कॉर्पोरेट कल्चर लाने और बॉलीवुड नेताओं की एंट्री कराने का श्रेय मुलायम सिंह के करीबी अमर सिंह को ही जाता है. अमर सिंह पहले भी अपने बयानों के लिए सुर्खियों में बने रहे हैं.

यह भी पढ़ें- हम पाकिस्तान को दुश्मन मानकर खुद के राष्ट्रप्रेम को खत्म कर रहे हैं: मणिशंकर अय्यर

मणिशंकर अय्यर के ‘नीच आदमी’ वाले बयान के बाद अमित शाह का कांग्रेस पर हमला, निकाला पिछले बयानों का काला चिट्ठा