नई दिल्ली. केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी और इकॉनोमिक टाइम्स की एक महिला पत्रकार सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर एक दूसरे से भिड़ गईं. ये पूरा मामला मंगलवार के इकॉनोमिक टाइम्स अखबार में छपी रिपोर्टर की एक बाइलाइन स्टोरी को लेकर हुआ था. 
 

अखबार में  छपी स्टोरी के मुताबिक स्मृति ईरानी ने इस बार 5000 छात्रो के दखिले के लिए पैरवी की, जो की इस मंत्रालय के पिछले मंत्रियों के मुकाबले 4 गुना ज्यादा है. इस स्टोरी के बाद मानव संसाधन विकास मंत्री ने पत्रकार के ऊपर एजेंडा चलाने का आरोप लगाया जिसके जवाब में पत्रकार ने सोशल मीडिया ट्विटर पर मंत्री को टैग कर लिखा की मंत्रालय से शुक्रवार से इस स्टोरी पर प्रतिक्रिया मांगी लेकिन नहीं मिली, लेकिन मंत्री के तौर परवह उनका सम्मान करती है. 
 

जिसके बाद मोदी सरकार की मंत्री ने इस ट्वीट का जवाब देने में बिल्कुल देर नहीं की. स्मृति ने ट्विटर पर लिखा, ”2 लाइन हमारी और बाकि लाइन एजेंडा version का.  वैसे भी आप respect करो या नहीं कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता.”