नई दिल्ली. कांग्रेस पर खालिस्तान समर्थकों के साथ साठ-गांठ पर सुखबीर सिंह के आरोपों का जवाब देते हुए पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और लोकसभा में कांग्रेस के उपनेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी को देशभक्ति और राष्ट्रवाद पर सुखबीर सिंह बादल जैसे लोगों से नसीहत नहीं चाहिए, जिनके पिता और पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने खालिस्तान आंदोलन के दौरान संविधान की प्रतियां जलाई थीं.
 
उन्होंने कहा कि बादल और उनके पिता पंजाब में कांग्रेस की बढ़ती लोकप्रियता से घबरा गए हैं और कांग्रेस तथा उसके नेताओं पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं. इससे पहले पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर आरोप लगाते हुए कहा कि खालिस्तानी समर्थकों के साथ क्यों राहुल पंजाब में 80 के दशक के काले दिन वापस लाना चाहते हैं.
 
सुखबीर सिंह बादल ने आरोप लगाया कि खालिस्तान की डिमांड करने वालों की एक रैली में कांग्रेस नेता भी मंच पर नजर आए थे. उन्होंने कहा कि पंजाब में कांग्रेस अपना सच्चा रंग दिखा रही है कि वह एक सच्ची एंटी नेशनल पार्टी है. बादल ने कहा अगर कांग्रेस कहती है कि उसका इस सब से कुछ लेना-देना नहीं है तो फिर वह उन नेताओं के खिलाफ एक्शन क्यों नहीं लेती है जिन्होंने इस रैली में भाग लिया. बादल ने ये भी कहा कि राहुल गांधी कट्टरवादी सगठनों के हाथों में खेल रहे हैं.