जींद. हरियाणा जमीन विवाद मामले में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ऐलान किया है कि सोनिया गांधी के दामाद और प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा को अगले छह महीने में सलाखों के पीछे भेज देंगे. जींद जिले में एक कार्यक्रम के दौरान खट्टर ने कहा, ”पिछली सरकार के कार्यकाल के समय हजारों करोड़ रूपए के घोटाले का पर्दाफाश किया जाएगा और जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा वापस लाकर विकास कार्य में लगाया जाएगा.”
 
रिपोर्ट सौंपेगा ढींगरा आयोग, कार्रवाई करेगी सरकार
मनोहर लाल खट्टर ने रॉबर्ट वाड्रा की तरफ इशारा करते हुए कहा कि ढींगरा आयोग छह महीने में अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप देगा और रिपोर्ट के आने के बाद दोषी सलाखों के पीछे होंगे. पिछली सरकार पर कटाक्ष करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार बनते ही सबसे पहले उन्होंने पहले बजट से पूर्व प्रदेश की आर्थिक स्थिति पर श्वेत पत्र जारी किया.
 
इसमें एक जिले की प्रति व्यक्ति आय 4.40 लाख रुपए जबकि साथ के दूसरे जिले की 40 हजार रुपए दिखाई गई. मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन लोगों ने जनता के हक का पैसा खाया है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा और जनता की कमाई वापस लाकर विकास कार्य में लगाई जाएगी. हम सबूत इकट्ठे कर रहे हैं. उनको सजा मिलेगी और उनको सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा. वाड्रा-डीएलएफ सौदे की जांच ढींगरा आयोग कर रहा है.