नई दिल्ली. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की नागरिकता को लेकर छिड़े विवाद में एक नया मोड़ आ गया है. ब्रिटिश सरकारी विभाग कंपनीज हाउस ने अपने स्पष्टीकरण में कहा है कि राहुल गांधी को ब्रिटिश नागरिक दिखाया जाना महज टाइपिंग की गलती हो सकती है. कंपनीज हाउस के एक प्रतिनिधि की एक प्रेस टीम ने सोमवार को बताया,’हो सकता है कि यह गलती जानकारी समिट करने वाले की तरफ से की गई हो.’ 
 
ब्रिटिश सरकार की वेबसाइट पर भी राहुल को दिखाया गया है ब्रिटिश नागरिक प्रतिनिधि ने कहा, ‘हम बुनियादी तौर पर जांच करते हैं कि डॉक्युमेंट्स पूरे हों और हस्ताक्षर सही हों. हालांकि, हमें यह हक नहीं है कि हम किसी के भी डॉक्युमेंट्स की सत्यता की जांच कर सकें. हालांकि, कांग्रेस ने स्वामी के आरोपों को खारिज करने करते हुए राहुल के भारतीय नागरिक होने के सभी दस्तावेज पेश कर दिए हैं.