जालंधर. तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा ने बिहार चुनाव के नतीजों पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि बिहार में इंसानियत की जीत हुई है. दलाई लामा का कहना है कि नतीजों ने साबित कर दिया है कि भारत एक सहनशील देश है.

नोबेल शांति पुरस्कार विजेता दलाई लामा ने एक यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में कहा कि कुछ लोगों का राजनीतिक हित हो सकता है, लेकिन भारत सबसे ज्यादा सहिष्णु देश है. बिहार चुनाव के नतीजों से साफ  हो गया है कि हिंदुओं का एक बड़ा तबका शांतिप्रिय है.

दलाई लामा ने कहा कि ये भारत की राजनीति है, इसमें मुझे नहीं पडऩा है. मैं भारत सरकार का सबसे लंबा मेहमान हूं. उन्होंने कहा कि बिहार की जनता ने विकास और इंसानियत को जीत का हकदार बनाया है.

बयान के बाद सियासत गरमाई

बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने दलाई लामा के इस बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि दलाई लामा ने इस शर्त पर भारत में शरण ली थी कि वो धर्मगुरु हैं उनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है लेकिन अगर अब वो हमारी राजनीति पर टिप्पणी करेंगे तो हमें सोचना पड़ेगा.

वहीं कांग्रेस नेता शकील अहमद का कहना है कि दलाई लामा जी एकदम सही कह रहे हैं बीजेपी को बिहार में कितना वोट मिला सबको पता है और भारत सेक्युलर है ये पता चल गया है.