नई दिल्ली. देश में बढ़ती असहिष्णुता के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी के कई बड़े नेताओं ने संसद से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाला. इस मार्च में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कपिल सिब्बल, मल्लिकार्जुन खड़गे, एके एंटनी, आनंद शर्मा समेत कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल रहे.
 
राष्ट्रपति भवन पहुंचने के बाद कांग्रेस ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को एक ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में पार्टी की तरफ से कहा गया है कि सामाजिक और सांप्रदायिक तनाव फैलाने के लिए भयावह अभियान चालाया जा रहा है.
 
सोनिया ने राष्ट्रपति को सौंपे ज्ञापन को लेकर कहा कि इसमें असहनशीलता, धमकी का माहौल बनाए जाने पर गहरी चिंता व्यक्त की गई है. इससे पहले सोनिया गांधी ने इस मसले पर सोमवार के दिन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की थी.