लखनऊ. पार्कों और स्मारकों के निर्माण में भ्रष्टाचार को लेकर आलोचनाओं की शिकार रही उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा कि यदि उनकी सरकार यूपी में दोबारा बनीं तो वह पार्क और स्मारक का निर्माण नहीं कराएगी. मायावती ने कहा कि महापुरूषों के सम्मान में पर्याप्त संख्या में स्मारक और पार्क बना दिए गए हैं इसलिए अब उनकी सरकार आई तो इन्हें बनाने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी. 
 
सपा सरकार में है गुंडा राज
मायावती ने सपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी में सपा सरकार आने के बाद गुंडा राज फैल गया है, राज्य में अशांति फैल गई है. मायावती ने कहा, टसरकार में आते ही हम गुंडाराज को खत्म करेंगे और प्रजातंत्र लाएंगे. दलित गुरुओं और विभूतियों को कभी सम्‍मान नहीं दिया गया.’
 
दलितों का हो रहा शोषण
मायावती ने कहा कि बीजेपी एंड कंपनी की वजह से ही दलितों का समाज में शोषण हो रहा है. जब से बीजेपी की केंद्र में सरकार बनी, तभी से दलितों, आदिवासियों और अति पिछड़ों को सामाजिक और आर्थ‍िक आधार पर नीचा गिराने का प्रयास किया जा रहा है. बीजेपी और आरएसएस के लोग मौकापरस्‍त हैं. मोदी सरकार पूरे देश को सवर्ण व्‍यवस्‍था में झोंकना चाहती है और देश को हिंदू राष्‍ट्र बनाना चाहती है.’
 
बता दें कि मायावती ने यूपी में बसपा सरकार के दौरान कई जगहों में पार्कों का निर्माण करवाया था जिसकी वजह से वह विवादित रहीं. यहां उन्होंने बीआर अंबेडकर और कांशी राम की प्रतिमाएं भी स्थापित की. इसे बनवाने में मायावती ने करीब 700 करोड़ खर्च किए थे.