रांची. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बिहार में जनता परिवार के विलय पर व्यंग्य वाण चलाते हुए आज यहां कहा कि जनता परिवार के इस विलय में जनता तो गायब है सिर्फ परिवार ही परिवार शेष हैं. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज यहां मोरहाबादी मैदान में झारखंड प्रदेश के कार्यकर्ता समागम को संबोधित करते हुए यह बात कही.
 
शाह ने कहा, ‘‘बिहार में जनता परिवार के विलय से भाजपा की सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है क्योंकि बिहार की जनता भाजपा की राह देख रही है कि वह कब बिहार में सरकार बनाये और सुशासन लाये.’’ शाह ने पूछा कि क्या कभी शून्य और शून्य जोड़कर कोई नया परिणाम आता है? ठीक उसी प्रकार बिना जनता के जनता दल यूनाइटेड और लालू प्रसाद यादव के राष्ट्रीय जनता दल के विलय का बिहार में कोई मायने नहीं है. उन्होंने कहा कि बिहार में अब राजद और जदयू के साथ जनता का कोई नाता नहीं रह गया है.
 
उन्होंने कहा कि राजद के वषरें के कुशासन और जदयू के हाल के कुशासन से जनता वाकिफ है और वह बिहार में सुशासन के लिए भाजपा के हाथों में सत्ता सौंपना चाहती है. उन्होंने दावा किया कि बिहार में भाजपा के कार्यकर्ता जन जन से मिलकर नीतीश कुमार और राजद के गठजोड़ का खुलासा कर रहे हैं और आगामी विधानसभा चुनावों में इसका प्रभाव देखने को मिलेगा.
IANS