नई दिल्ली. रेल नीर घोटाला मामले में रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कार्रवाई करते हुए दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया है. रेल मंत्रालय ने ट्विटर पर ये जानकारी दी है. बता दें कि सीबीआई ने शुक्रवार को उत्तर रेलवे के दो पूर्व अधिकारियों और सात निजी कंपनियों के खिलाफ 13 जगहों पर छापेमारी की जिसमें 20 करोड़ रुपए बरामद किए थे. 
 
गौरतलब है कि उत्तर रेलवे के दो वरिष्ठ अधिकारियों और 7 निजी कंपनियों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है. सीबीआई ने शुक्रवार को ही मामले में रेलवे के दो अधिकारियों को भी गिरफ्तार किया है. निलंबित किए गए दोनों अधिकारियों के नाम तत्कालीन मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधकों (पीएस एवं कैटरिंग) एम एस चालिया और संदीप सिलस हैं. संदीप सिलस एक पूर्व केंद्रीय मंत्री के निजी सचिव के तौर पर सेवाएं दे चुके हैं.
 
कंपनियों में आर के एसोसिएट्स प्राइवेट लिमिटेड, सत्यम कैटर्स प्राइवेट लिमिटेड, अंबुज होटल एंड रियल एस्टेट, पीके एसोसिएट्स प्राइवेट लिमिटेड, सनशाइन प्राइवेट लिमिटेड, वृंदावन फूड प्रॉडक्ट और फूड वर्ल्ड के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया है.
 
क्या है है पूरा मामला?
दरअसल ये आरोपी अधिकारी सांठगांठ करके प्रीमियम ट्रेनों में ‘रेल नीर’ की सप्लाई न करके निजी कंपनियों के पानी का सप्लाई करवा रहे थे. जिससे रेलवे को नुकसान हो रहा था जबकि खुद मुनाफा कमा रहे थे.