नई दिल्ली. भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने करीब दो दशकों तक नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवार की जासूसी करवाई थी.  इंटेलीजेंस ब्यूरो के कुछ दस्तावेजों से खुलासा हुआ है कि पहले नेहरू और उनके बाद कांग्रेस की दूसरी सरकारों ने बोस के परिवार की जासूसी कराई थी. कांग्रेस सरकार ने 1948 से 1968 (20 साल) तक सुभाष चंद्र बोस के परिवार की जासूसी करवाई. 

इन 20 सालों में से 16 साल तक देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की सरकार थी. फाइलों में जिक्र है कि 1945 में नेता जी की ‘मौत’ के बाद नेहरू सरकार ने बोस के कोलकाता स्थित दो घरों की निगरानी की.  इनमें से एक वुडबर्न पार्क और दूसरा 38/2 एल्गिन रोड पर था.