सीकर. जन आंदोलनों की अगुवाई करने वाले अन्ना हजारे ने देश में हो रही राजनीति को आड़े हाथ लेते हुए आरक्षण पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि देश में आरक्षण की जरुरत आजादी के समय थी और आज आरक्षण पर पार्टीयां राजनीति करती हैं. यह देश के लिए एक बहुत बड़ा खतरा है. 
 
इसके अलावा उन्होंने कहा कि देश को संविधान के आधार पर चलाना है और संविधान में चिन्ह पर चुनाव करवाने की व्यवस्था नहीं है, फिर क्यों चिन्ह आधारित चुनाव करवा रहे हैं. उन्होंने कहा कि चुनाव में केवल उम्मीदवार का नाम और उसकी फोटो होनी चाहिए.
 
हमेशा की तरह अन्ना ने भ्रष्टाचार पर बोलते हुए बीजेपी और कांग्रेस पर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया और कहा कि ये राजनीतिक पार्टीयां भ्रष्टाचार में महारथ हासिल कर चुकी हैं.