भोपाल. मिजोरम के राज्यपाल पद से हटाए गए अजीज कुरैशी ने यह कहकर सनसनी फैला दी है कि उन पर भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की निर्वाचित सरकारों के खिलाफ रिपोर्ट देने का दवाब बनाया था. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कुरैशी ने  कहा कि जब वे उत्तराखंड के राज्यपाल थे और उत्तर प्रदेश का प्रभार था तब भाजपा के नेताओं ने उन्हें प्रलोभन दिया था कि अगर वे उनकी मंशा के मुताबिक दोनो राज्यों के खिलाफ रिपोर्ट देंगे तो उन्हें इसका इनाम भी मिलेगा.

वे इन पांच साल तो राज्यपाल रहेंगे ही साथ में आगे भी उनका भविष्य सुरक्षित रहेगा. जब उनसे पूछा गया कि वे नेताओं के नाम बताएं तो उन्होंने कहा कि समय आने पर खुलासा करेंगे. कुरैशी को उत्तराखंड से मिजोरम भेजा गया था. उसके बाद मार्च में उन्हें मिजोरम के राज्यपाल पद से भी हटा दिया गया है. कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय में कुरैशी ने भाजपा की केंद्र सरकार पर जमकर आरोप लगाए और कांग्रेस की सदस्यता भी ग्रहण कर ली.