मुंबई. शिवसेना के कड़े विरोध के बाद मुंबई में 9 अक्टूबर को मशहूर गज़ल गायक गुलाम अली का प्रोग्राम रद्द कर दिया गया है. आयोजक शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मिले जिसके बाद पाकिस्तानी गायक का कार्यक्रम कैंसिल करने का फैसला किया गया.

ये कार्यक्रम जगजीत सिंह की चौथी पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए रखा गया था. शिवसेना फिल्म शाखा और चित्रपट सेना अध्यक्ष आदेश बांदेकर का कहना है कि पार्टी 10 अक्टूबर को पुणे में प्रस्तावित इसी तरह के कार्यक्रम का भी विरोध करेगी और उसे रोकेगी.

शिवसेना के इस विरोध से असहमति जताते हुए केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने इसे ‘अनुचित’ बताया और कहा कि शांति का दूत किसी सीमा में बंधा नहीं होता.

उन्होंने कहा, ‘ये सही नहीं है. गुलाम अली शांति के दूत हैं, शांति के ऐसे दूत पर सीमाओं का बंधन नहीं होना चाहिए. जो लोग शांति का संदेश देते हैं, उनके लिए सीमाएं कोई मायने नहीं रखती.’