हैदराबाद. आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में दो मुठभेड़ों में पुलिस ने कथित 20 चंदन तस्करों को मार गिराया गया. मारे गए लोगों में अधिकांश तमिलनाडु के थे. तमिलनाडु के राजनीतिक दलों ने इस घटना पर आक्रोश जताया है, वहीं मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने इसे जघन्य ‘जनसंहार’ करार दिया है. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू से इस मामले की ‘विश्वसनीय जांच’ करवाए जाने की अपील की है,

वहीं द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) के अध्यक्ष एम. करुणानिधि ने कहा कि तमिलनाडु के 12 लोगों सहित 20 लोगों का मारा जाना निंदनीय है. पुलिस के मुताबिक, तस्करों ने हैदराबाद से करीब 500 किलोमीटर दूर चित्तूर के चंद्रगिरि मंडल क्षेत्र स्थित शेषाचलम के जंगलों में एक किलोमीटर के दायरे में दो स्थानों पर पुलिस पर हमला किया. इसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की. मुठभेड़ में मारे गए लोग निर्धन आदिवासी हैं. वे सभी तमिलनाडु के रहने वाले बताए गए हैं.