नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आर्थिक आधार पर आरक्षण की वकालत की है. मोहन भागवत ने कहा कि आरक्षण समाज के कमजोर वर्गों को बराबरी का हक दिलाने के लिए 10 साल के लिए लागू गया था.
 
आरक्षण पर राजनीति को लेकर संघ प्रमुख ने मोदी सरकार को एक कमेटी बनाने की सलाह दी है, जो यह तय करे कि कितने लोगों को और कितने दिनों तक आरक्षण मिलना चाहिए. मोहन भागवत ने कहा कि ऐसी कमेटी में नेताओं से ज्यादा सेवा भाव रखने वाले लोगों को तरजीह मिलनी चाहिए. उन्होंने कहा कि वे समाज के वंचित वर्गों के आरक्षण दिए जाने के खिलाफ नहीं है लेकिन आर्थिक रुप से कमजोर वर्गों को इसका लाभ दिया जाना चाहिए.