नई दिल्ली. अपनी मांगों को लेकर लगातार संसद की कार्यवाही बाधित कर रहे कांग्रेसी सांसदों ने मंगलवार के दिन भी हंगामा जारी रखा. राज्यसभा में  वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जैसे ही जीएसटी बिल पेश किया वैसे ही कांग्रेस की तरफ से नारेबाजी की गई और सांसद वेल तक पहुंच गए. हंगामे के बाद उप सभापति ने राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित कर दी. 

हंगामे से नाराज सुमित्रा महाजन
दूसरी तरफ लोकसभा में सदन की बैठक शुरू होते ही कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल के सदस्य लोकसभा अध्यक्ष के आसन के पास जमा हो गए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. इस पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि चेयर के साथ जिस तरह का व्यवहार किया गया, उससे मैं बहुत दुःखी हूं.

मुलायम भी पलटे 
सर्वदलीय बैठक के बाद सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने जहां केंद्र सरकार को संसद की कार्यवाही सुचारू रुप से चलाने का आश्वासन दिया था. वहीं संसद शुरु होते ही वह इशसे पलट गए. उन्होंने संसद में सरकार को चेतावनी दी है कि अगर सरकार जाति के आधार पर हुई जनगणना के आंकड़े जल्द रिलीज नहीं करती तो संसद में नए सिरे से टकराव पैदा होगा.