भागलपुर. बिहार के सबसे चर्चित सृजन घोटाले के खिलाफ लालू परिवार ने शंखनाद कर दिया और इसी के बहाने वो सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी पर लगातार हमला कर रहे हैं. भागलपुर में सृजन घोटाले को लेकर ‘सृजन के दुर्जनों का विसर्जन’ रैली को संबोधित करते हुए लालू ने नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा. 
 
रैली में लालू ने नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश कुमार सत्ता के लोभी हैं. अगर मीडिया में सृजन घोटाले की खबर न चलाई गई होती तो ये मामला जनता के सामने नहीं आता. 
 
लालू ने कहा कि सरकारी पैसे के एक-एक रुपये का हिसाब नीतीश कुमार को देना होगा. हम किसी भी हाल में डरने वाले नहीं है. उन्होंने कहा कि राजद की रैली को रोकने के लिए सीबीआई का प्रयोग किया गया. 
लालू ने सवाल दागते हुए कहा कि आखिर सृजन घोटाले को लेकर अब तक नीतीश कुमार, सुशील मोदी और अश्विनी चौबे पर मामला दर्ज क्यों नहीं किया गया है. 
 
रैली के इतर लालू ने एक ट्वीट कर कहा कि नीतीश कुमार सबसे बड़े भ्रष्टाचारी हैं. लालू ने सवाल किया कि 13 साल से सृजन घोटाला नीतीश की “नाक का बाल” रहा और पता भी नहीं चला. 
 
बता दें कि इससे पहले लालू पुत्र तेजस्वी यादव ने भी नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा. तेजस्वी ने तो नीतीश कुमार को भ्रष्टाचार का भीष्म पितामह ही कह डाला. तेजस्वी ने कहा कि इस सभा का नाम सृजन के दुर्जनों का विसर्जन रखा गया है.
 
बता दें कि अब तक चारा घोटाले को ही सरकारी राशि के दुरुपयोग का सबसे बड़ा घोटाला माना जा रहा था. इसमें 1000 करोड़ से अधिक की राशि की हेराफेरी का मामला सामने आया था. वहीं सृजन घोटाले में यह राशि अभी ही 974 करोड़ रुपये के पास पहुंच गयी है.