मुंबई. शुक्रवार को महाराष्ट्र विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ. हगांमें की हद तो तब पार हो गई, जब भाजपा नेता एकनाथ खड़से ने अपनी ही पार्टी के सीएम देवेंद्र फड़णवीस को कटघरे में ला खड़ा कर दिया. एकनाथ खड़से ने विधानसभा में सवाल करते हुए कहा कि जब जमीन घोटाले में उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था, तो उस घोटाले से जुड़े अन्य मंत्रियों के खिलाफ भी ऐसी कार्यवाही क्यों नहीं हुई है.
 
एकनाथ खड़से ने जिस तरह से विधानसभा में खुलेआम सवाल किया, उससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि वे काफी नाराज चल रहे हैं. ऐसा लग रहा है कि उनके मन में ये बात पहले से थी, जिसे विधानसभा में सवाल कर सबके सामने ला दिया. 
 
 
एकनाथ खड़से ने विधानसभा में सवाल किया कि जमीन घोटाले में सुभाष देसाई (उद्योग मंत्री) और प्रकाश मेहता (गृह निर्माण मंत्री) के खिलाफ सिर्फ़ जांच बिठायी जा रही है, मगर उनका इस्तीफ़ा क्यों नहीं लिया जा रहा है. जबकि ज़मीन घोटाले में ही मुझसे इस्तीफा लिया गया था.
 
 
विधानसभा में एकनाथ खड़से ने सीएम से सवाल किया कि मेरे साथ न्याय कब होगा. इसके जवाब में सीएम फड़नवीस ने कहा कि दोनो मंत्रियों की के खिलाफ निष्पक्ष लोकायुक्त के द्वारा जांच होगी.