नई दिल्ली. मुंबई में 1993 में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के दोषी याकूब मेमन को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली. उसे गुरुवार सुबह महाराष्‍ट्र के नागपुर सेंट्रल जेल में फांसी दे दी गई. फांसी के बाद बीजेपी की तरफ से पहली प्रतिक्रिया पार्टी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने दी. शाहनवाज ने कहा कि देश की अदालत पर सबको भरोसा है और इस मामले में सियासत करने की जरूरत नहीं है.

उन्होंने कहा कि जो भी अपराध करेगा उसके खिलाफ कानून अपना काम करेगा. शाहनवाज ने कहा कि संदेश साफ है कि इस देश में बेगुनाह ना मरे और गुनहगार बचे नहीं. वहीं मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर रह चुके बीजेपी सांसद सत्यपाल सिहं ने कहा कि याकूब मेनन की फांसी के बाद कानून-व्यवस्था नहीं बिगड़ेगी.