नई दिल्ली.  केंद्र में सत्तासीन बीजेपी सरकार ने कांग्रेस की वह मांग खारिज कर दी, जिसमें उसने भ्रष्टाचार के आरोपों में फंसे एक मंत्री तथा अन्य नेताओं के इस्तीफे मांग की है. केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने सर्वदलीय बैठक के बाद मीडिया से कहा,  ‘इस्तीफे का सवाल ही पैदा नहीं होता. किसी ने भी कोई अवैध या अनैतिक काम नहीं किया है.’

कांग्रेस ने संसद के मानसून सत्र के सुचारु संचालन के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज तथा राजस्थान एवं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्रियों वसुंधरा राजे व शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे की मांग को लेकर एक प्रस्ताव पारित किया. मानसून सत्र मंगलवार से शुरू हो रहा है. कांग्रेस की मांग पर वेंकैया ने कहा, ‘किसी की चेतावनी को स्वीकारने का सवाल पैदा नहीं होता.’

नायडू ने कहा, ‘कोई भी संसद पर शर्ते नहीं थोप सकता. संसद सर्वोपरि है. विपक्ष जो भी मुद्दे उठाना चाहता है, हम उसपर चर्चा के लिए तैयार हैं.’ आपको बता दें कि कांग्रेस आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी के साथ कथित संबंधों के लिए सुषमा स्वराज और वसुंधरा के इस्तीफे की मांग कर रही है. कांग्रेस व्यापमं घोटाले के लिए शिवराज का इस्तीफा मांग रही है.