पटना : आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के 22 ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी के बाद अब उन्हें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का साथ मिलता दिख रहा है. ममता ने ट्वीट कर कहा है कि वह 27 अगस्त को होने वाली आरजेडी की मेगा रैली में शामिल होंगी.
 
लालू ने ट्वीट कर कहा था कि बीजेपी उन्हें जेल भेजना चाहती है, इसलिए यह सब किया जा रहा है. उन्होंने कहा था, ‘बीजेपी चाहती है कि मैं 27 अगस्त की मेगा रैली न करूं, इसलिए वह उससे पहले ही मुझे जेल में डालना चाहती है.’ 
 
 
लालू के इस ट्वीट पर ममता ने कल ट्वीट कर कहा, ‘लालू जी हम आपका निमंत्रण स्वीकार करते हैं, हम 27 अगस्त की रैली में जरूर शामिल होंगे.’ साथ ही ममता ने केन्द्र पर राजनीतिक बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाया है. बता दें कि ममता ने यह ट्वीट कल लालू के ठिकानों में आयकर विभाग की छापेमारी के बाद किया है.
 
बीजेपी करेगी धरमा प्रदर्शन
वहीं आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव और उनके परिवार की बेनामी संपत्ति की जांच की मांग को लेकर बीजेपी आज पूरे बिहार में धरना प्रदर्शन करेगी. इस बीच सीएम नीतीश कुमार ने लालू यादव और उनके परिवार के ठिकानों बेनामी संपत्ति मामले में छापेमारी पर सवाल खड़ा किया है और पूछा है कि इसका मकसद क्या है.
 
 
बता दें कि मंगलवार को आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव के 22 ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की थी, जिसके बाद लालू ने ट्वीट कर केंद्र सरकार के इस कदम की आलोचना की थी.
 
1 हजार करोड़ की बेनामी संपत्ति मामले में आयकर विभाग की छापेमारी के बाद लालू ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की थी. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘बीजेपी में हिम्मत नहीं कि लालू की आवाज को दबा सके. लालू की आवाज दबाएंगे तो देशभर मे करोड़ों लालू खड़े हो जाएंगे. मैं गीदड़ भभकी से डरने वाला नही हूं.’
 
लालू ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा, ‘बीजेपी को नए सहयोगी मुबारक हो. लालू प्रसाद झुकने और डरने वाला नहीं है. जब तक आखरी सांस है फासीवादी ताकतों के खिलाफ लड़ता रहूंगा.’