नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई नीति आयोग की बैठक से कई राज्यों के मुख्यमंत्री गायब रहे. कांग्रेस शासित 9 राज्यों के साथ-साथ पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, तमिलनाडु की सीएम जयललिता और यूपी के सीएम अखिलेश यादव भी इस बैठक में नहीं पहुंचे.

पीएम मोदी ने बुधवार को अपने आवास 7 रेस कोर्स रोड पर नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग बुलाई थी. हर राज्य के सीएम और केंद्र शासित प्रदेशों के राज्यपाल इसके सदस्य हैं। इस मीटिंग में जमीन अधिग्रहण बिल से लेकर राज्यों में चल रही केंद्र की योजनाओं पर चर्चा होनी है.

कांग्रेस शासित राज्यों के सीएम नहीं पहुंचे
कांग्रेस शासित 9 राज्यों के सीएम इस बैठक में नहीं पहुंचे. इनमें से कुछ सीएम दिल्ली में ही मौजूद हैं. जब उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत से पूछा गया कि वह दिल्ली में होने के बावजूद बैठक में क्यों नहीं आए, तो उन्होंन कहा, ‘इस मीटिंग में भूमि अधिग्रहण बिल पर चर्चा होगी. चर्चा करने का क्या फायदा है? हमारी पार्टी का रुख पहले से साफ है कि 2013 में संसद ने जो भूमि अधिग्रहण बिल पास किया था, उसे बनाए रखा जाए.’

उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री भी इस बैठक में हिस्सा लेने नहीं आए. बताया जा रहा है कि यूपी के सीएम अखिलेश यादव को लखनऊ में कई कार्यक्रमों मे हिस्सा लेना है, इस वजह से वह इस मीटिंग में शिरकत करने दिल्ली नहीं आ सके. वहीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि वह मीटिंग में जरूर आतीं, मगर उन्हें विदेश निकलना है. ममता और जयलललिता ने इस बैठक में अपने प्रतिनिधि भेजे हैं.