नई दिल्ली: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा को बढाने का फैसला लिया गया है. यह फैसला सीएम योगी पर बढ़ते खतरे को ध्यान में रखकर किया गया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अब योगी की सुरक्षा में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) की त्वरित प्रतिक्रिया टीम QRT  की तैनाती की जाएगी. इसका मतलब ये है कि ये टीम एनएसजी से अपग्रेड तो होगी ही साथ में एक्शन लेने में  ज्यादा पावरफुल होगी.

आपको बता दें कि सीएम योगी को फिलहाल जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है. इस सुरक्षा के अंतर्गत एनएसजी के 35 कमांडों शामिल है. इस सुरक्षा को मोबाइल सुरक्षा भी कहा जाता है, जिसमें सीएम के साथ एक समय में कम से कम 7 कमांडो उनकी सुरक्षा में तैनात रहते हैं. लेकिन अब क्यूआरटी टीम भी उनके साथ नजर आएगी. 
 
आपको बता दें कि मुख्यमंत्रियों को सुरक्षा देने का काम केंद्र सरकार यानी गृह मंत्रालय करता है. किसी मंत्री को कितनी सुरक्षा दी जाए इसका फैसला केंद्र सरकार के हाथों में होता है. द एशियन एज अखबार ने एक खबर में सीएम योगी आदित्यनाथ के जान को खतरा बताया है. जिसके बाद खुफिया ऐजेंसियों ने भी ने सिक्योरिटी अलर्ट जारी कर दिया है.

हालांकि सरकार की ओर से फिलहाल कोई बयान जारी नहीं किया गया है. गृहमंत्रालय ने कुछ दिन पहले ही सीएम योगी को एनएसजी सुरक्षा देने का फैसला लिया था. जिसके बाद से ही सीएम योगी जहां कही भी जाते हैं उनकी सुरक्षा का पहला घेरा एनएसजी की होती है जबकि बाहरी सुरक्षा के लिए CISF की एक टुकड़ी तैनात रहती है.