भोपाल.  दिल्ली से लेकर भोपाल तक कांग्रेस में उस समय हड़कंप मच गया जब अचानक कहीं से खबर उड़ी कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और अभी सांसद कमलनाथ बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं. हाल इस बात को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूरी तरह से खारिज कर दिया.
शिवराज ने कहा कि बीजेपी के पास पहले से ही कमल है और उसको किसी कमलनाथ की जरूरत नहीं है. मुख्यमंत्री के इस बयान के साथ ही यह साफ हो गया है कि कमलनाथ के बीजेपी में शामिल होने की बात सिर्फ अफवाह है.
गौरतलब है कि कमलनाथ मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र से 9 बार कांग्रेस के सांसद चुने गए हैं. कांग्रेस की सरकार में वह केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं और पार्टी की नीतियां तय करने में वह महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.
दरअसल इस अफवाह के आने से पहले पिछले कई दिनों से कई नेता कांग्रेस छोड़कर जा चुके हैं. इसमें एसएम कृष्णा, विजय बहुगुणा, रीता बहुगुणा जोशी, अरविंद सिंह लवली और बरखा सिंह जैसे बड़े नेता शामिल हैं.
इस बात को राहुल गांधी भी मान चुके हैं कि कांग्रेस में अंदर सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है और वह ठीक करने की कोशिश कर रहे हैं. वहींं कांग्रेस के अंदर राहुल गांधी के फैसलों के खिलाफ भी कई आवाजें उठने लगीं हैं.
उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में कांग्रेस की करारी के हार के बाद पूर्व सांसद संदीप दीक्षित ने कहा था कि राहुल गांधी को इस हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए.