नई दिल्ली. व्यापम घोटाले के सियासी बवंडर में फंसे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नाराज बताए जा रहे हैं. मध्यप्रदेश सरकार की ओर से जिस तरह से इस पूरे मामले में जांच की गई है उससे मोदी भी संतुष्ट नहीं हैं. खबर है कि पीएमओ ने इस मामले में शिवराज सरकार से रिपोर्ट मांगी है. 

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने व्यापम घोटाले को कवर करने के दौरान रहस्यमयी मौत के शिकार हुए पत्रकार अक्षय सिंह के घरवालों से मुलाकात की. सीएम शिवराज ने मुलाकात के बाद कहा कि मध्य प्रदेश सरकार अक्षय की मौत का सच सामने लाकर रहेगी. इसके अलावा उन्होंने अक्षय की बहन को नौकरी देने का प्रस्ताव घरवालों के सामने रखा.

व्यापम घोटाले के सियासी बवंडर में फंसे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है. शिवराज ने बुधवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अनंत कुमार से मुलाकात की. हालांकि, सुषमा से उनकी मुलाकात को औपचारिक तौर पर विश्व हिंदी दिवस पर राज्य में होने वाले आयोजन का निमंत्रण देने का प्रायोजन बताया गया है. 

व्यापम घोटाले को लेकर चर्चाओं में आई नम्रता डामोर की केस में नया खुलासा हुआ है. नम्रता की फर्स्ट ऑटोप्सी करने वाले डॉ. बी.बी. पुरोहित ने मीडिया को बताया, ‘नम्रता का मर्डर हुआ था. उसकी नेचरल डेथ होने के एक पर्सेंट चांस भी नहीं हैं. नम्रता की मौत गला दबाए जाने से हुई थी. मौत के बाद उसे रेलवे ट्रैक पर घसीटा गया था. रेप की आशंका के चलते उसके प्राइवेट पार्ट से सैम्पल भी लिए गए थे.’ 

सुप्रीम कोर्ट आज व्यापमं घोटाले की निगरानी और सीबीआई जांच के संबंध में की गई याचिकाओं पर सुनवाई करेगा. फिलहाल इस मामले में चार याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई हैं.  अर्जी कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह, व्हिसलब्लोअर आशीष चतुर्वेदी, डॉ. आनंद राय और प्रशांत पांडेय ने डाली है.