लखनऊ. यूपी में अखिलेश सरकार के राज में जननी सुरक्षा योजना को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. यहां योजना के तहत बहराइच में 60 साल की बुजुर्ग महिला को 10 महीने के भीतर पांच बार गर्भवती दिखाया गया है.

वहीं बदायूं की एक महिला का चार महीने में तीन बार डिलिवरी हुई और हर बार 1400 रुपए के चेक जारी हुए.

कैसे हुई धांधली?

योजना के तहत दर्ज किया गया है कि बदायू के गांव मल्हा निवासी बजरंगी की पत्नी आशा देवी ने 28 फरवरी 2015 को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिनावर में एक बच्चे को जन्म दिया. उसी दौरान इन्हें जननी सुरक्षा योजना के तहत 1400 रुपए का चेक जारी हुआ. इसी महिला की दूसरी डिलीवरी चार मार्च को बदायूं महिला अस्पताल में हुई. इस समय इनके नाम से फिर 1400 रुपए का चेक जारी हुआ. तीसरी बार आशा की डिलीवरी 20 मई को पीएचसी समरेर में हुई और तीसरी बार एसबीआइ के चेक से 1400 रुपए दिए गए. मामला संज्ञान में आने पर अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डॉ सुबोध शर्मा ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिए है.