नई दिल्ली. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ललित मोदी विवाद को लेकर संसद के मानसून सत्र में हंगामा होने से जुड़ी चिंताओं को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि कुछ लोग टीवी चैनलों के लिए प्रासंगिक हो सकते हैं लेकिन शासन तंत्र के लिए नहीं.

जेटली ने कहा कि भूमि अधिग्रहण अधिनियम संशोधन विधेयक और अखिल भारतीय स्तर पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू करने संबंधी विधेयक विकास के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं और उम्मीद है कि कोई राजनीतिक दल वृद्धि और विकास के विरद्ध रख अख्तियार नहीं करेगा. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि कुछ लोगों की टेलीविजन चैनलों के लिए भले ही प्रासांगिकता हो सकती है लेकिन जहां तक भारत सरकार के राज-काज संचालन की बात है उनकी कोई प्रासंगिकता नहीं है.

एजेंसी