इलाहाबाद: पंजाब, गोवा के बाद उत्तराखंड का चुनाव भी खत्म हो चुका है, लिहाजा सभी पार्टियों के नेताओं का फोकस अब यूपी ही है. यूपी में दो दौर की वोटिंग हो चुकी है और अगले पांच दौर की वोटिंग वाली सीटों पर वोटरों को रिझाने के लिए सभी तरह के दांव आजमाए जा रहे हैं. 
 
 
कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि प्रियंका वाड्रा आर्मी चीफ जैसी भूमिका में हैं. जिस तरह आर्मी चीफ कभी मैदान में नहीं जाते वैसे ही वह पर्दे के पीछे की चुनावी रणनीति तैयार करती हैं. उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी यूपी विधानसभा चुनाव में सिर्फ रायबरेली और अमेठी तक ही सीमित रहेंगी. इसके अलावा कहीं प्रचार नहीं करेंगी.
 
 
गुलाम नबी आजाद के मुताबिक प्रियंका के प्रचार का पूरे यूपी में असर पड़ेगा और नतीजों से यह साबित भी हो जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रियंका के प्रचार से बीजेपी घबरा गई है इसलिए वह गलतबयानी कर रही है. उनके मुताबिक़ बीजेपी घबरा गई इसीलिये पीएम नरेंद्र मोदी गली गली भाषण कर रहे हैं.
 
 
आजाद ने आगे कहा कि हर तरह के चुनाव में दो तरह के लोग काम होते हैं. पहला जो पार्टी के लिए प्रचार-प्रसार करने का काम करता है और दूसरा पर्दे के पीछे चुनाव रणनीति तैयार करता है. प्रियंका वाड्रा दूसरे काम में ही लगी हुई हैं. उन्हें सूबे की सभी 403 विधानसभा सीटों के नाम याद हैं. वह कांग्रेस के एक-एक कार्यकर्ता को अच्छे से पहचानती हैं.
 
 
बता दें कि उत्तर प्रदेश में 11 फरवरी से 8 मार्च तक कुल 7 चरणों में 403 सीटों पर चुनाव होगा. 11 मार्च को वोटों की गिनती होगी. इस समय में यूपी में सपा की सरकार है. साल 2012 में राज्य के विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिला था. सपा ने 2012 में 401 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से 224 सीटों पर पार्टी को जीत मिली थी.