गाज़ियाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई और आल इंडिया रिटेल एसोशिएशन के उपाध्यक्ष प्रहलाद मोदी ने कहा कि जिस प्रकार आम आदमी पार्टी के विधायक और दिल्ली सरकार के पूर्व कानून मंत्री जितेन्द्र सिंह तोमर की डिग्रियों की जांच की जा रही है उसी प्रकार केंद्रीय मंत्री व शिक्षा मंत्री स्मृति ईरानी की डिग्रियों की भी जांच होनी चाहिए.

निजी यात्रा में गाजियाबाद पहुंचे प्रहलाद मोदी ने यह पूछे जाने पर कि क्या स्मृति ईरानी की डिग्रियों की भी जांच की जानी चाहिये, यह बात कही.आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा की गई मदद के जबाव में उन्होंने कहा कि यह मानवता के आधार पर किया गया है, इस मुद्दे को तूल नहीं दिया जाना चाहिए.

विदेश में जमा काले धन के मुद्दे पर प्रहलाद मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा सभी संभव प्रयास किये जा रहे हैं और जितना धन विदेश में जमा है उससे कहीं ज्यादा तो कालाधन अपने देश में है. प्रहलाद मोदी ने राशन डीलरों की पैरोकारी करते हुए कहा कि जिस प्रकार राशन की दुकानों पर खाद्य सामग्री का वितरण किया जाता है उसी प्रकार राशन डीलरों के यहां से एलपीजी सिलेंडरों की भी आपूर्ति होनी चाहिए जिससे राशन डीलरों की आमदनी बढ़ सके और भ्रष्टाचार को रोका जा सके. इससे अलग और भी कई सवाल किये गए जिनके जवाब में उन्होंने कहा कि राज्यसभा में सरकार का बहुमत कम है जिसके चलते कई मुद्दों पर कार्य करने में समय लगेगा.

एजेंसी