नई दिल्ली. पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि यूपीए के शासनकाल के दौरान ललित मोदी मामले पर ब्रिटिश अधिकारियों को लिखे गए पत्र जारी किए जाने चाहिए, क्योंकि ये पत्र आईपीएल के पूर्व आयुक्त द्वारा कांग्रेस और उन पर लगाए आरोपों का उत्तर देंगे. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चिदंबरम ने ट्वीट किया कि यूपीए पर लगाए गए ललित मोदी के आरोपों का जवाब ब्रिटेन के चांसलर को लिखे पत्रों में मिल सकता है, उन्हें जारी करें.

 

चिदंबरम की प्रतिक्रिया ऐसे समय आई है जब एक दिन पहले ललित मोदी ने आरोप लगाया था कि आईपीएल घोटाले के बाद शशि थरूर का मंत्री पद जाने के बाद कांग्रेस और चिदंबरम ने  राजनीतिक बदले  की भावना से काम करते हुए उन्हें निशाना बनाया. कांग्रेस ने ब्रिटेन से यात्रा संबंधी दस्तावेज हासिल करने में ललित मोदी की मदद करने के मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के इस्तीफे की मांग की है जिसके बाद ललित ने कांग्रेस पर हमला बोला.

चिदंबरम ने दो वर्ष से अधिक समय पहले वित्त मंत्री के तौर पर ब्रिटेन की सरकार से पूछा था कि वह पूर्व आईपीएल प्रमुख मोदी के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रही जिन्होंने धनशोधन समेत कई वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों के बाद लंदन में शरण ले रखी है. चिदंबरम ने 2013 में चांसलर ऑफ इक्स्चेकर जॉर्ज ओसबनोर्न के साथ बैठक में यह मामला उठाया था. वह चाहते थे कि ब्रिटेन ललित मोदी को देश से निकाल दें क्योंकि उनका पासपोर्ट भारत में जब्त कर लिया गया है और उनके ब्रिटेन के वीजा की अवधि समाप्त हो गई है.

एजेंसी