नई दिल्ली. प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने पहली बार खुलकर इस्लाम की प्रशंसा की है. पीएम मोदी ने कहा, ‘कुरान में ‘इल्म’ शब्द का 800 बार जिक्र किया गया है. ‘अल्लाह’ शब्द के बाद इस शब्द को सबसे ज्यादा दोहराया गया है. इल्म सभी धर्मो का केंद्र बिन्दु है और भारत के लोग सौभाग्यशाली हैं कि उन्हें एक ही जगह विभिन्न धर्मों का अनुसरण करने, उन्हें समझने और जानने का अवसर मिला है.’

यह बात उन्होंने सोमवार को किताब ‘एजुकेशन ऑफ मुस्लिम: ऐन इस्लामिक परस्पेक्टिव ऑफ नॉलेज एंड एजुकेशन- इंडियन कॉन्टेक्स्ट’ का लोकार्पण करते हुए कही. इस मौके पर कई जाने माने शिक्षाविद, इतिहासविद और राजनयिक मौजूद थे. उन्होंने किताब के संपादक जे.एस. राजपूत और इसकी प्रस्तावना लिखने वाले सिराजुद्दीन कुरैशी को उनके प्रयास के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा कि यह किताब हमें एक-दूसरे को समझने के हमारे प्रयासों में मदद कर सकती है.

इसके अलावा मोदी ने कहा,  ‘भारत में रहने वालों के लिए यह सौभाग्य की बात है कि हमारे पास इतने सारे अलग अलग धर्मों और विचारों का अनुसरण करने, समझने और सीखने के अवसर हैं.’